Javed Akhtar: तालिबान और तालिबानी सोच के लिए मेरे पास निंदा और तिरस्कार के अलावा कुछ नहीं

तालिबान—आरएसएस तुलना विवाद और खुद पर लगे आरोपों पर जावेद अख्तर (Javed Akhtar) की सार्वजनिक प्रतिक्रिया बीते 3 सितंबर को मशहूर गीतकार जावेद अख्तर (Javed Akhtar) ने एनडीटीवी को दिए … Read More

IPTA: मध्य प्रदेश—छत्तीसगढ़ में सांस्कृतिक आंदोलन और इप्टा की भूमिका

(IPTA: जनता के रंगमंच की नायक जनता स्वयं होती है थीम पर संविधान लाइव ने पिछले दिनों प्रसिद्ध रंगकर्मी, लेखक और रंगकर्म पत्रिका की संपादक उषा वैरागकर आठले, वरिष्ठ संस्कृतिकर्मी … Read More

AK Pankaj: अश्विनी कुमार पंकज से संविधान लाइव की बातचीत

उत्पादन, उपभोग और आदिवासी समाज विषय पर AK Pankaj से संविधान लाइव की बातचीत यह बातचीत मुख्य रूप से तीन सवालों पर केंद्रित है। 1. मौजूदा दुनिया में उत्पादन के … Read More

RamLakhan Bhatt: एक रंगकर्मी का गुजर जाना

RamLakhan Bhatt: जमाना बड़े गौर से सुन रहा था, तुम्हीं सो गए दास्तां कहते कहते • हरिओम राजोरिया गुना इप्टा के सबसे वरिष्ठ साथी कवि एवं रंगकर्मी रामलखन भट्ट (14 … Read More

Israel Palestine Issue: मज़हब के चश्मे से इज़राइल और फिलिस्तीन का मसला हल नहीं हो सकता

अब्दुल हक़ (अब्दुल्ला ) जब हम इज़राइल और फिलिस्तीन (Israel Palestine Issue) की बात करते हैं तो ये लड़ाई इज़राइल और फिलिस्तीन के लिए ज़मीन और अपने वजूद को बचाने … Read More

K Sachidanandan: राज्य सत्ता और सोशल मीडिया के अपवित्र गठबंधन का विरोध

फेसबुक द्वारा के. सच्चिदानंदन (K Sachidanandan) काे प्रतिबंधित करने से बुद्धिजीवियों में नाराजगी प्रसिद्ध कवि और आलोचक के. सच्चिदानंदन को फेसबुक द्वारा ब्लॉक किए जाने पर कवियों, लेखकों, अकादमिशयनों व … Read More

Theatre: कोविड काल में रंगकर्मियों के हाथों से छूटा ‘रंग’

(Theatre in Lockdown: कोविड काल बीते साल में सबसे अधिक इस्तेमाल हुए शब्दों में शामिल है। इस शब्द में छुपी तकलीफ को समाज के कई तबकों ने महसूस किया है। … Read More

Cultural Movement: प्रतिरोध की जरूरत, चुनौतियां और संभावनाएं

Video on Cultural Movement: राजेश जोशी, राजेंद्र शर्मा, रामप्रकाश त्रिपाठी, नवल शुक्ल और ईश्वर सिंह दोस्त से सत्यम पांडे की बातचीत  हमारे समय के महत्वपूर्ण कवि राजेश जोशी, कवि और … Read More

Peoples Resistance: बंटवारे की राजनीति के खिलाफ लोग एकजुट हो रहे हैं, यह एक संभावना है: मनोज कुलकर्णी

मौजूदा राजनीति के विकास और विस्तार को समझने के लिए 1980 के दशक को जानना एक महत्वपूर्ण कड़ी है। 1980 में उभरी दक्षिणपंथी राजनीति ने 2014 और 2019 में अपनी … Read More