Education: तय करनी होगी शिक्षा से हमें अपनी अपेक्षाएं

विभा वत्‍सल अपने समय में शिक्षा (Education) सर्वाधिक विवादास्‍पद जरूरत बनकर रह गई है। कोई अपने बच्‍चों को क्‍यों, कैसी और कितनी शिक्षा दिलाए? इतना सब करने के बाद क्‍या … Read More

Bhopal Gas Tragedy: प्रकृति के ‘संरक्षक’ नहीं, उसके ‘अंश’ हैं, हम!

भोपाल गैस त्रासदी’ 2-3 दिसंबर 1984 की 36वीं बरसी पर विशेष मानशी आशर ‘भोपाल गैस कांड’ का यह 36वां साल है, लेकिन लगता नहीं कि हम उससे कुछ जरूरी सीख ले … Read More

Covid-19: कोविड में कितनी साफ रही गंगा?

सुरेश भाई  आंकडे बताते हैं कि कोविड-19 (Covid-19) महामारी के दौर में लगे लॉकडाउन में गंगा और यमुना सरीखी उसकी सहायक नदियां निर्मल हो गई थीं। क्‍या यह सचमुच गांव-गांव … Read More

NGO: सरकार की साथी, गैर-सरकारी संस्‍थाएं

वीरेन्‍द्र कुमार पैन्‍यूली  गैर-सरकारी समाजसेवी संस्‍थाएं (NGO) सरकार से समान दूरी रखते हुए उसे आइना दिखाते रहने के लिए भी खड़ी की जाती रही हैं, लेकिन आजकल इन संस्‍थाओं का … Read More