Loksabha Election: लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा की पहली लिस्ट जारी, वाराणसी से पीएम मोदी, गांधीनगर से अमित शाह हैं प्रत्याशी

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शनिवार को 16 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों के लिए 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर वाराणसी से, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह गांधीनगर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ से चुनाव लड़ेंगे। भाजपा महासचिव विनोद तावड़े, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बैजयंत जय पांडा और मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी ने यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला एक बार फिर कोटा से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे।

 

सूची के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर केरल के तिरुवनंतपुरम से, सर्बानंद सोनोवाल असम की डिब्रूगढ़ सीट से, केंद्रीय मंत्री किरेन रीजीजू अरुणाचल पूर्व से, भूपेंद्र यादव राजस्थान के अलवर से, ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्य प्रदेश के गुना से, संजीव बालियान मुजफ्फरनगर और स्मृति ईरानी अमेठी से चुनाव लड़ेंगे। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विदिशा से उम्मीवार होंगे जबकि भोपाल से मौजूदा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का टिकट काटकर पार्टी ने आलोक शर्मा को वहां से उम्मीदवार बनाया है। त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब देव त्रिपुरा पश्चिम से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे। पार्टी ने नई दिल्ली से केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी की जगह पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज को, दक्षिणी दिल्ली से रमेश बिधूड़ी की जगह रामवीर सिंह बिधूडी, चांदनी चौक से पूर्व केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन की जगह प्रवीण खंडेलवाल, पश्चिमी दिल्ली से प्रवेश वर्मा की जगह कमलजीत सेहरावत को पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है।

मध्य प्रदेश के 24 सीटों पर उम्मीदवार घोषित
लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा की पहली सूची में मध्य प्रदेश की 29 सीटों में से 24 सीटों पर प्रत्याशियों को घोषित कर दिया है। मध्य प्रदेश की 29 सीटों में से फिलहाल 28 पर भाजपा काबिज है। गुना-शिवपुरी से केपी सिंह का टिकट कट गया है, वहीं भोपाल से भी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर भरोसा नहीं किया गया है।

यह भी पढ़ें:  संविधान लाइव जूनियर फैलोशिप

गुना से सिंधिया फिर मैदान में
मध्य प्रदेश की गुना-शिवपुरी सीट से ज्योतिरादित्य सिंधिया, मुरैना से शिवमंगल सिंह, ग्‍वालियर से भारत सिंह कुशवाह, भिंड से संध्या राय, सागर से लता वानखेड़े, दमोह से राहुल लोधी, खजुराहो से वीडी शर्मा, सतना से गणेश सिंह, रीवा से जनार्दन मिश्रा, टीकमगढ़ से वीरेंद्र खटिक और जबलपुर से आशीष दुबे को टिकट दिया है।

विदिशा से शिवराज लौटे
विदिशा से शिवराज सिंह चौहान और भोपाल से आलोक शर्मा, सीधी से राजेश मिश्रा, शहडोल से हिंमाद्री सिंह, बैतूल से दुर्गादास उइके, मंडला से फग्‍गन कुलस्‍ते, नर्मदापुरम से दर्शन सिंह चौधरी, राजगढ़ से रोड़मल नागर, देवास से महेंद्र सिंह सोलंकी, खरगौन से गजेन्द्र पटेल, खंडवा से ज्ञानेश्वर पाटिल, मंदसौर से सुधीर गुप्ता, रतलाम से अनीता नागर सिंह चौहान चुनाव लड़ेंगी।

उत्तर पूर्व दिल्ली से मनोज तिवारी को टिकट
भाजपा की दिल्ली इकाई के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी एक बार उत्तर पूर्व दिल्ली से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे। पिछले दिनों भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक हुई थी, जिसमें पार्टी उम्मीदवारों के नामों पर मैराथन मंथन किया गया था। प्रधानमंत्री मोदी भी इस बैठक में शरीक हुए थे। इससे पहले, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा, शाह, संगठन महासचिव बी एल संतोष ने विभिन्न राज्यों के नेताओं के साथ अलग-अलग बैठकें कर उम्मीदवारों के नामों पर विमर्श किया था। अभी तक लोकसभा चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा नहीं हुई है लेकिन पार्टी ने इससे पहले ही उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी। पिछले चरण के विधानसभा चुनावों में भी भाजपा ने यही रणनीति अपनाई थी और बहुत हद तक यह कारगर भी रही।

लगातार तीसरी बार वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे पीएम मोदी
प्रधानमंत्री मोदी ने साल 2014 में वाराणसी और वड़ोदरा से चुनाव लड़कर दोनों जगहों से जीत हासिल की थी। हालांकि बाद में उन्होंने वड़ोदरा सीट छोड़ दी थी। साल 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी ने वाराणसी से 4,79,505 मतों से जीत दर्ज की थी। साल 2014 में उन्होंने 3,71,784 मतों के अंतर से जीत हासिल की थी। वाराणसी से पीएम मोदी लगातार तीसरी बार चुनाव लड़ेंगे। शाह ने 2019 में पहली बार गांधीनगर संसदीय क्षेत्र से लोकसभा का चुनाव लड़कर 5,57,014 मतों के रिकार्ड अंतर से जीत हासिल की थी। राजनाथ सिंह 2014 से संसद में लखनऊ का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। इससे पहले, वह गाजियाबाद से भी लोकसभा सदस्य रह चुके हैं। पहली सूची जारी से पहले ही पूर्वी दिल्ली से सांसद व पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर और हजारीबाग से सांसद जयंत सिन्हा ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट के जरिए बताया कि उन्होंने पार्टी अध्यक्ष से चुनावी राजनीति से खुद को दूर रखने का अनुरोध किया है।

यह भी पढ़ें:  Loksabha Elections 2024: एनडीए का 400 पार दावा! कितनी हकीकत, कितना फसाना

लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान 12 से 15 मार्च के बीच
लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान चुनाव आयोग इसी महीने के मध्य में कर सकता है। अभी मुख्य चुनाव आयुक्त विभिन्न राज्यों के दौरे पर हैं, जोकि जल्द खत्म होने वाला है। सूत्रों की मानें तो सभी राज्यों में तैयारियों का जायजा लेने के बाद कभी भी चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी जाएगी। हालांकि संविधान लाइव के सूत्रों के मुताबिक 12 से 15 मार्च के बीच कभी भी चुनाव की तारीखों का ऐलान हो सकता है। इसके बाद आचार संहिता लग जाएगी।

साल 2014 और 2019, दोनों के लोकसभा चुनावों में बीजेपी को अपने दम पर बहुमत हासिल हुआ था। बीजेपी का मुकाबला आगामी लोकसभा चुनावों में कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, सपा जैसे विपक्षी गठबंधनों के बनाए गए राष्ट्रीय स्तर पर इंडिया अलायंस से होगा। बीजेपी ने इस बार खुद के लिए 370 और एनडीए गठबंधन के लिए 400 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है।