Nida Rahman

Nida Rahman: इश्क और इंकलाब की एक जिम्मेदार आवाज

Nida Rahman Video: पत्रकार और ब्लाॅगर निदा रहमान से संविधान लाइव के लिए निगहत खान की बातचीत

पत्रकार निदा रहमान चार बहनों में सबसे छोटी हैं। उनकी मां ने 1970 में ग्रेजुएशन किया और फिर अपनी चारों बेटियों की पढ़ाई पर सबसे ज्यादा जोर दिया। इस बात को पूरे गर्व से बताते हुए निदा अपनी दादी को भी याद करती हैं और बताती हैं कि लड़का-लड़की के फर्क की सोच उनके घर के भीतर कभी जगह नहीं बना सकी। पूरी बातचीत सुनते हुए आप महसूस करेंगे कि निदा के लेखन में जो बेबाकी और बातचीत में जौ रौ है, उसमें उनके पारिवारिक माहौल का भी बड़ा हिस्सा है। निदा के बाकी लेखन को आप इस लिंक  (न्यूज 18 पर निदा का ब्लाॅग) पर जाकर देख सकते हैं

निगहत और निदा की इस बातचीत में महिला, परिवार, कामकाज के साथ विभिन्न सामाजिक मुद्दे इश्क और इंकलाब की आवाज के जरिये नुमायां होते हैं। साथ ही एक जिम्मेदार आवाज बनने में एक नागरिक की हैसियत से उनकी पूरी यात्रा के कई पड़ाव सामने आते हैं।

उम्मीद है यह बातचीत आपके जेहन में सोच और सवाल की वो सुईयां चुभोने में कामयाब होगी, जिससे इन दिनों कई लोग कतराने लगे हैं। इसलिए अगर आप ऐसी किसी आवाज से बचना चाहते हैं, जो सवाल उठाए, जो आपको अपना सही चेहरा दिखाए, तो इसे न सुनें।

और फिर भी सुनने का हौसला कर पा रहे हैं, तो हमें अपनी राय जरूर लिखें।

संविधान लाइव टीम