कनाडाई संसद की पहली महिला नेता

22 अगस्त 2016 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित

सचिन श्रीवास्तव
बरदिश छग्गड़ : कनाडा में महिला राजनीति का नया चेहरा
भारतीय-कनाडाई सिख सांसद बरदिश छग्गड़ को कनाडा के हाउस ऑफ कॉमन में सरकार का नया नेता नामित किया गया है। वे कनाडा में सदन की पहली महिला नेता बनी हैं। 1970 के दशक में बरदिश के पिता भारत से वाटरलू चले गए थे। उनके पिता गुरमिंदर गोगी छग्गड़ लिबरल पार्टी की राजनीति में सक्रिय रहे हैं।

समर्थ उत्तराधिकारी
वाटरलू से सांसद 36 वर्षीय छग्गड़ लघु व्यापार एवं पर्यटन मंत्री हैं। वह भारतीय मूल के उन 19 उम्मीदवारों में शामिल हैं जो पिछले साल के आम चुनाव में जीते थे। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडियू ने उम्मीद जताई कि छग्गड़ एक ‘समर्थ उत्तराधिकारी’ साबित होंगी। वह डोमिनिक लेब्लांक का स्थान लेने जा रही हैं।

शानदार अवसरयह शानदार अवसर है। मैं अपनी पूरी जिंदगी राजनीतिक प्रक्रिया में शामिल रही हूं। मैं जानती हूं कि लोकतंत्र को कैसा दिखना चाहिए। लोकतंत्र के साथ कनाडा के लोगों के साथ जुड़ाव है। यही हमारे प्रधानमंत्री का नेतृत्व है और इसीलिए पूरी सरकार का रुख कनाडा के लिए काम करने का होगा।
-बरदिश छग्गड़, सदन का नेता चुने जाने पर

36 साल का सफर
1980 के 6 अप्रैल को वाटरलू में बरदिश का जन्म हुआ।
1993 के आम चुनावों में छग्गड़ सबसे पहले बतौर वालेंटियर एंड्रयू तेलेग्दी के चुनाव अभियान में शामिल हुईं। उस वक्त बरदिश की उम्र 13 साल थी।
2001 में वाटरलू यूनिवर्सिटी से विज्ञान में स्नातक की डिग्री हासिल की। वह यंग लिबरल्स की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं।
2008 में तेलेग्दी की हार के बाद किचेनर-वाटरलू मल्टीकल्चरल सेंटर में विशेष कार्यक्रम की निदेशक बनीं।
2013 में ट्रूडियू के चुनाव अभियान में उन्होंने वालेंटियर के तौर पर काम किया।
2015 के आमचुनाव में वे सांसद चुनीं गईं। उन्होंने 50 प्रतिशत वोट हासिल कर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी और दो बार के विजेता पीटर ब्रेड को हराया।
2015 के नवंबर में वे लघु उद्योग और पर्यटन मंत्री बनाई गईं।
2016 में कनाडाई सदन की पहली महिला नेता होने का गौरव पाया।

यह भी पढ़ें:  20 करोड़ की कुल संपत्ति, पत्नी को दी 5.5 करोड़ की कार गिफ्ट