Podcast- Episode 3: बक्सवाहा के जंगल बचाने की सोशल मीडिया मुहिम क्या रंग लाएगी?

Samvidhan Live Podcast

Podcast- Episode 3: संविधान लाइव के पॉडकास्ट आजाद बोल की तीसरी कड़ी में आज बात हो रही है बक्सवाहा के जंगलों के बहाने पर्यावरण और विकास की अवधारणा पर। मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में मौजूद बक्सवाहा के जंगलों के नीचे करीब 50 हजार करोड़ रुपये के हीरे होने का दावा किया जा रहा है। यहां पहले से ही हीरे का खनन चल रहा है। नई रिपोर्ट के बाद करीब 382 हेक्टेयर में फैले जंगल पर खतरा बढ़ गया है।
इस मामले में साथी अब्दुल्ला ने सवाल पूछा है कि जीने के अधिकार को सुनिश्चित करने वाले पेड़ों को बचाने के कानूनी तरीके क्या हो सकते हैं?
इस सवाल पर वरिष्ठ पत्रकार और पर्यावरण के मसलों पर कार्यरत साथी हृदयेश जोशी, नर्मदा बचाओ आंदोलन के साथी राजकुमार सिन्हा और संविधान लाइव के साथी पत्रकार सचिन श्रीवास्तव ने अपनी राय साझा की।

यह भी पढ़ें:  Mobile Vendors: मोबाइल कारीगरों के लिए अजाब बना लॉकडाउन

इस पॉडकास्ट का संयोजन युवा पत्रकार डिम्पल सिरोही ने किया है। इसके लिए तकनीकी सहयोग ​ईशान ने किया है।

आपको यह बातचीत कैसी लगी? हमें अपनी राय से जरूर अवगत कराएं। अगर आपके जेहन में भी कोई सवाल है और चाहते हैं कि उस पर चर्चा हो, तो आप हमें [email protected] पर सवाल अपनी आवाज में रिकॉर्ड करके भेज सकते हैं।

-टीम संविधान लाइव