सजावटी मछली पालन के लिए पायलट प्रोजेक्ट

61.89 करोड़ रुपए की लागत से सजावटी मछलीपालन पर पायलट प्रोजेक्ट शुरू कर रही है केंद्र सरकार
08 राज्यों असम, पश्चिम बंगाल, ओडि़शा, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल किया है चयन

दिलचस्प तथ्य
एक्वेरियम सजावट दुनिया में फोटोग्राफी के बाद दूसरा सबसे बड़ा शौक है
800 अरब रुपए का सजावटी मछलियों का कारोबार दुनिया भर में

775 प्रजातियों का घर
400
प्रजातियां हैं देश के विभिन्न हिस्सों में समुद्री सजावटी मछलियों की
375 प्रजातियां हैं सामान्य जल स्रोतों में सजावटी मछलियों की

4 खासियतें प्रोजेक्ट की
1- क्लस्टर आधार पर सजावटी मछली पालन को प्रोत्साहन
2- सजावटी मछलीपालन निर्यात बढ़ाना
3- रोजगार अवसर बढ़ाना
4- आधुनिक तकनीक और नवाचार

यह भी पढ़ें:  26 प्रतिशत बढ़ी इंटरनेट की स्पीड

04 काम जो किए जाएंगे
1- उत्पादन
2- एक्वेरियम फैब्रिकेशन, व्यापार और मार्केटिंग
3- प्रोत्साहन गतिविधियां
4- कौशल विकास