वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैकिंग 2016-17: टॉप-350 में भारत का महज 1 संस्थान

23 सितंबर 2016 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित

सचिन श्रीवास्तव 
टाइम्स हायर एजुकेशन ने गुरुवार को दुनिया की बेहतरीन यूनिवर्सिटी की सूची जारी की है। इस सूची में टॉप-350 संस्थानों में देश के महज एक संस्थान इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएस) को जगह मिली है। वहीं टॉप-500 में आईआईटी के बॉम्बे, दिल्ली, कानपुर और मद्रास को भी जगह मिली है। कुल 980 संस्थानों की इस सूची में भारत के 31 शिक्षा संस्थान हैं। इस सूची की खास बात यह भी है कि 12 साल के इतिहास में पहली बार ब्रिटेन की किसी यूनिवर्सिटी को अव्वल स्थान मिला है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने सूची में पहला स्थान हासिल कर अमरीकी बादशाहत को तोड़ दिया है। पिछली 11 सूचियों में अमरीका के संस्थान ही पहले स्थान पर रहे हैं।

अमरीका-ब्रिटेन ही अव्वल क्यों?
जब भी दुनिया की सर्वश्रेष्ठ यूनिवर्सिर्टी की बात होती है, तो उनमें अमरीका और ब्रिटेन के संस्थान सबसे आगे रहते हैं। इसमें भी ब्रिटेन-अमरीका के संस्थान जैसे ऑक्सफोर्ड, सीआईटी, स्टेनफोर्ड, कैम्ब्रिज, हार्वर्ड और एमआईटी हर सूची में अव्वल रहते हैं। हालिया सूची में टॉप-20 में 19 संस्थान अमरीका-ब्रिटेन के ही हैं। ऐसे में सवाल लाजिमी है कि आखिर इन संस्थानों में ऐसा क्या है, जो यूरोप, एशिया, ऑस्ट्रेलिया के अन्य संस्थान इनके आगे बौने नजर आते हैं। बेहतर पढ़ाई, इन्फ्रास्ट्रक्चर, सर्वश्रेष्ठ टीचर्स और पाठ्यक्रम की गुणवत्ता के अलावा भी अन्य कई कारण हैं, जो इन यूनिवर्सिटीज को अन्य संस्थानों से अलग करते हैं।

1- यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड (ब्रिटेन): दुनिया की दूसरी सबसे पुरानी यूनिवर्सिटी, जो आज भी संचालित हो रही है। करीब एक हजार साल पुराना यह विश्वविद्यालय परंपरा और आधुनिकता का बेमिसाल संगम है। इसके 44 कॉलेजों की 100 से ज्यादा लाइब्रेरी का सिस्टम दुनिया में अपनी तरह का अनूठा और एकमात्र सिस्टम है। दुनिया को 120 से ज्यादा ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट, 26 नोबल विजेता और इंदिरा गांधी, बिल क्लिंटन, आंग सान सू की जैसे 30 से ज्यादा वैश्विक नेताओं का ताल्लुक ऑक्सफोर्ड से है।
19919 स्टूडेंट हैं इस वक्त ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में
11:6 है छात्र और स्टॉफ का अनुपात। यानी हर 11 छात्रों पर 6 शिक्षक व अन्य कर्मचारी।
34 प्रतिशत विदेशी छात्र पढ़ते हैं ब्रिटेन के इस विश्वविद्यालय में
46:54 का है छात्र-छात्रा अनुपात। यानी 46 प्रतिशत छात्राएं और 54 प्रतिशत छात्र।
380 भारतीय छात्र हैं अभी ऑक्सफोर्ड में
48 प्रतिशत बढ़ी है बीते 10 साल में भारतीय छात्रों की आमद
1900 से ज्यादा भारतीय हैं ऑक्सफोर्ड अलुमनी में
112 भारतीय शामिल हैं ऑक्सफोर्ड के टीचिंग स्टॉफ में

यह भी पढ़ें:  ढाई सदी का इतिहास : 250 साल पूरे किए भारतीय सर्वेक्षण विभाग ने

2- कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (अमरीका)
साइंस और इंजीनियरिंग रिसर्च का दुनिया का अव्वल संस्थान। सीआईटी की बड़ी खासियत इसकी बेहतरीन फैकल्टी मैंबर हैं। 300 से ज्यादा प्रोफेसर और 600 से ज्यादा रिसर्च स्कॉलर जटिल सवालों को हल करने के लिए नित नई खोजों और प्रयोगों को अंजाम देते हैं। यहां हर तीन छात्रों पर एक शिक्षक का अनुपात है।
2243 स्टूडेंट हैं इस वक्त यूनिवर्सिटी में
27 प्रतिशत विदेशी छात्र पढ़ते हैं ब्रिटेन के इस विश्वविद्यालय में
33 प्रतिशत छात्राएं और 67 प्रतिशत छात्र हैं सीआईटी में

3- स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी (अमरीका)
कैंपस के फैलाव के लिहाज से अमरीका की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी। उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए दुनिया में पहचान। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद अपनी अनूठी पहचान विकसित करने की दिशा में बढ़ी। इसके 8180 एकड़ के कैंपस में 700 से ज्यादा इमारतें हैं। दुनिया के मौजूदा अरबपतियों में से 30 ने स्टेनफोर्ड में शिक्षा हासिल की है। बिजनेस के अलावा खेल, विज्ञान, राजनीति, मीडिया और तकनीक के कई दिग्गज इस संस्थान से पढ़कर निकले हैं।
15596 स्टूडेंट हैं इस वक्त यूनिवर्सिटी में
22 प्रतिशत विदेशी छात्र पढ़ते हैं ब्रिटेन के इस विश्वविद्यालय में
42 प्रतिशत छात्राएं और 58 प्रतिशत छात्र हैं स्टेनफोर्ड में

यह भी पढ़ें:  एड्स जागरुकता : एचआईवी जानकारी के मामले में महिलाओं से आगे हैं पुरुष

4- यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज (ब्रिटेन)
कैम्ब्रिज अपने आपमें दुनिया का प्रतिनिधित्व करती है। यहां दुनिया के 120 देशों के 4000 से ज्यादा विदेशी छात्र पढऩे आते हैं। यह किसी भी अन्य विश्वविद्यालय के मुकाबले सबसे बड़ी संख्या है। समाज विज्ञान की दुनिया की सर्वश्रेष्ठ यूनिवर्सिटी। हर साल 45 हजार से ज्यादा रिसर्च पेपर प्रकाशित होते हैं।
18812 स्टूडेंट हैं इस वक्त यूनिवर्सिटी में
34 प्रतिशत विदेशी छात्र पढ़ते हैं इस विश्वविद्यालय में
46 प्रतिशत छात्राएं और 54 प्रतिशत छात्र हैं 

5- मैसाच्यूसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (अमरीका)
एमआईटी का ध्येय वाक्य है, माइंड इन हेंड। यह अपने छात्रों को कल की दुनिया के लिए तैयार करता है। हर साल एमआईटी के पाठ्यक्रम में नई खोजों और रिसर्च के आधार पर काफी बदलाव किए जाते हैं। कोफी अन्नान से रघुराम राजन तक दुनिया पर गहरा असर डालने वाले सैकड़ों लोगों ने एमआईटी से पढ़ाई की है।
11074 स्टूडेंट हैं इस वक्त यूनिवर्सिटी में
33 प्रतिशत विदेशी छात्र पढ़ते हैं इस विश्वविद्यालय में
37 प्रतिशत छात्राएं और 63 प्रतिशत छात्र हैं