अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव की पहली बहस: दृढ़ता की बहस में हिलेरी ने मारी बाजी

28 सितंबर 2016 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित
सचिन श्रीवास्तव 
अमरीकी राष्ट्रपति पद की चुनाव पूर्व पहली बहस में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ बाजी मार ली है। अर्थव्यवस्था, नौकरियों, करों, विदेश नीति और आतंकवाद के मुद्दों पर तीखी बहस के दौरान हिलेरी ने अपने संतुलित, संयमित और सार्थक तर्कों से ट्रंप पर सीधे वार किए, तो तीखे जवाब भी दिए। हालांकि ट्रंप ने यह कहकर चौंकाया कि यदि हिलेरी जीतीं तो उन्हें वह अपना पूरा समर्थन देंगे। 90 मिनट की बहस में 68 वर्षीय हिलेरी और 70 वर्षीय ट्रंप पहली बार मंच पर एक साथ थे। अमरीका में 8 नवंबर को राष्ट्रपति पद के चुनाव होने हैं। 
समय: सुबह 6.30 बजे (भारतीय समयानुसार)
स्थान: न्यूयॉर्क के हेम्पस्टीड स्थित होफस्ट्रा यूनिवर्सिटी 
विषय: राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों के बीच बहस
ट्रंप: चीन अपने पुनर्निर्माण के लिए अमरीका का इस्तेमाल गुल्लक की तरह कर रहा है। देश से नौकरियां जा रही हैं। ये नौकरियां मैक्सिको जा रही हैं। अन्य देशों में जा रही हैं। आप देखिए चीन हमारे उत्पादों के मामले में हमारे साथ क्या कर रहा है। वे अपनी मुद्रा का अवमूल्यन कर रहे हैं और हमारी सरकार में ऐसा कोई नहीं है, जो उनके खिलाफ लड़े। 

हिलेरी: ट्रंप बहस में केवल मेरी आलोचना करने आए हैं। लेकिन मैं गंभीरता से तैयार होकर आई हूं। जातीय हमले करने का उनका पुराना रिकॉर्ड रहा है। जो व्यक्ति अमरीका जैसे महान राष्ट्र का राष्ट्रपति बनने के लिए बहस कर रहा हो वह महिलाओं को पिग्स, स्लॉब्स और डॉग्स मानता है। 

निजी हमले पर मुस्कुराईं हिलेरी
हाल ही में निमोनिया से उबरी हिलेरी की ‘स्टैमिनाÓ पर सवाल खड़ा कर ट्रंप ने निजी हमला किया। इस पर हिलेरी मुस्कुराईं। फिर जवाब में ट्रंप पर निशाना साधा। ट्रंप रक्षात्मक मुद्रा में आए। 
टैक्स रिटर्न पर याद दिलाई ईमेल्स की
हिलेरी ने ट्रंप पर टैक्स रिटर्न जारी न करने पर निशाना साधा। इस पर ट्रंप ने कहा कि यदि हिलेरी अपने वे 33,000 ईमेल जारी कर दें, जो उन्होंने विदेश मंत्री पद के पहले कार्यकाल के दौरान डिलीट किए थे, तो वे भी टैक्स रिटर्न जारी कर देंगे। हिलेरी ने माना कि उनसे ईमेल मामले में गलती हुई। वे दोबारा ऐसा नहीं करेंगी।
सरकार पर वार, हिलेरी का जवाब
बहस के दौरान ट्रंप ने मौजूदा सरकार पर जमकर निशाना साधा। अमरीका की ताजा मुश्किलों को गिनाते हुए उन्होंने ओबामा प्रशासन पर वार किए। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में सत्ता उन लोगों के हाथ में है जिन्हें अर्थनीति की जानकारी नहीं है। उन्होंने रिपब्लिकन पार्टी की अर्थनीति को बेहतर बताया। इस पर हिलेरी ने इसे अमीरों और कारपोरेट की नीति कहा और खुद को मध्यवर्ग का हितैषी बताया। 
कानून व्यवस्था: हिलेरी की उदारता रही हावी
ट्रंप: हमें और पुलिस चाहिए। हाल में 2200 मर्डर हुए, लेकिन रोककर तलाशी लेने की वजह से यह 500 पर सिमट गए। ‘रोको और तलाशी लो’ की नीति अपनाएंगे। 
हिलेरी: हमें उन लोगों से हथियार वापस लेने होंगे, जिनके हाथों में वे नहीं होने चाहिएं। मैं ऐसी नेता बनूंगी जिस पर देशवासी घर और विदेश में भरोसा कर सकें।
नतीजा: हिलेरी की उदार शैली को अमरीका समेत विश्व समुदाय का समर्थन मिला।
नस्लीय टिप्पणी: ट्रंप का इतिहास किया उजागर
ट्रंप: मैंने हिलेरी को ओबामा के खिलाफ डिबेट्स की तैयारी करते देखा है। आपने उनके साथ अपमानजनक बर्ताव किया हैै। हमारे नेताओं की वजह से अफ्रीकी-अमरीकी समुदाय को नीचा देखना पड़ा है। 
हिलेरी: ट्रंप के खिलाफ 1973 में नस्लीय भेदभाव के मामले में केस दर्ज होने के साथ उनका कॅरियर शुरू हुआ। जस्टिस डिपार्टमेंट ने उनके खिलाफ दो बार केस किया। 
नतीजा: हिलेरी के बयान को ज्यादा तवज्जो मिली।
नौकरियां: देशी-विदेशी सबके लिए अमरीका
ट्रंप: हिलेरी के पास नौकरियां पैदा करने की कोई योजना नहीं है। मैं नौकरियां वापस दिला सकता हूं। नौकरियां अमेरिका से बाहर जा रही हैं।
हिलेरी: हम निवेश बढ़ाएंगे, जिससे एक करोड़ नौकरियां पैदा होंगी। ट्रंप ने हाउसिंग संकट को भी अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करने की कोशिश की थी। 
नतीजा: ट्रंप ठोस योजना सामने नहीं रख सके। हिलेरी विदेशी कर्मियों के खिलाफ नहीं।
राष्ट्रीय कर्ज: मध्यवर्ग का समर्थन हिलेरी को
ट्रंप: मैंने पिता से ‘छोटा सा लोन’ लिया था। हिलेरी और ओबामा की नीतियों ने पिछले 8 सालों में 9 ट्रिलियन तक कर्ज बढ़ा दिया है। ओबामा ने 8 साल में देश का कर्ज दोगुना कर दिया है।
हिलेरी: ट्रंप ने अपने अरबपति पिता से 4 करोड़ डॉलर का कर्ज लेकर बिजनेस शुरू किया। हमें ऐसी अर्थव्यवस्था तैयार करनी होगी, जो हर किसी के लिए हो, सिर्फ बड़े लोगों के लिए नहीं। ट्रंप का अर्थव्यवस्था का प्लान देश के कर्ज को 5,000 अरब बढ़ा देगा। 
नतीजा: हिलेरी हावी

टैक्स: कटौती को नहीं मिला लोगों का साथ

ट्रंप: मैं टैक्स बहुत कम कर दूंगा। मैं कंपनियों, छोटे और बड़े कारोबारों के लिए इन्हें 35 प्रतिशत से कम करके 15 प्रतिशत कर दूंगा। इससे नौकरियां पैदा होंगी। यह हमने रोनाल्ड रीगन के दौर के बाद से नहीं देखा है। यह देखना बहुत खूबसूरत होगा।
हिलेरी: व्यापार महत्वपूर्ण मामला है। हम विश्व की आबादी का पांच प्रतिशत हैं, हमें अन्य 95 प्रतिशत के साथ व्यापार करना है। इसके लिए बुद्धिमान होना होगा। हमें अच्छे व्यापारिक सौदे हासिल करने की जरूरत है। इसके लिए ऐसी कर प्रणाली चाहिए जो काम को पुरस्कृत करे, न केवल वित्तीय लेन-देन को। बड़ी टैक्स कटौती से अर्थव्यवस्था विकास नहीं करती।
नतीजा: हिलेरी की संतुलित विकास की नीति को समर्थन मिला।
——————————————-
62 प्रतिशत लोगों ने पहली बहस में हिलेरी क्लिेंटन का समर्थन किया
26 प्रतिशत लोगों ने डोनाल्ड ट्रंप को वोट किया
12 प्रतिशत लोगों ने दोनों को बराबर समर्थन दिया
2008 की ओबामा और जॉन मैक्केन की बहस जैसा माहौल
यह भी पढ़ें:  ब्रह्मदाग बुगती: विद्रोही बलूच नेता चाहते हैं भारत से मदद