यशस्विनी, मलाइका, हर्षदा ने साधा स्वर्ण पर निशाना

22 सितंबर 2016 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित

सचिन श्रीवास्तव भारतीय जूनियर निशानेबाजी टीम की सदस्य यशस्विनी सिंह देसवाल, मलाइका गोयल और हर्षदा निथावे ने आईएसएसएफ जूनियर विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता है। जूनियर महिला 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में यशस्विनी, मलाइका और हर्षदा ने 1122 अंक अर्जित कर तुर्की (1104 अंक) और उज्बेकिस्तान (1086 अंक) की टीमों को पछाड़ा।

यशस्विनी देसवाल
उम्र: 19 साल
चंडीगढ़ की रहने वाली यशस्विनी की पैदाइश दिल्ली में हुई। वे इकॉनामिक्स की स्टूडेंट हैं। जसपाल राणा से शूटिंग के गुर सीखने वाली यशस्विनी 40 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में दो सिल्वर मेडल हासिल कर चुकी हैं। उन्होंने 2012 में प्रोफेशनल शूटिंग शुरू की थी। शूटिंग के अलावा यशस्विनी तैराकी को पसंद करती हैं।

यह भी पढ़ें:  23 सितंबर से बदल जाएगा भारत में गेमिंग का भविष्य

मालविका गोयल
उम्र: 19 साल
2014 के ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में मालविका ने 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में सिल्वर मेडल हासिल किया था। 2008 में कॅरियर शुरू करने वाली मालविका ने 2012 में सीनियर नेशनल चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल पर कब्जा जमाया था। लुधियाना की रहने वाली मालविका ने छठवीं कक्षा के बाद स्कूल जाना छोड़ दिया था। उनके पिता पंजाब में एसपी हैं।

हर्षदा निथावे 
उम्र: 16 साल
2015 में एशियन एयर गन चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली हर्षदा काफी गुस्सैल हैं। औरंगाबाद की हर्षदा को जसपाल राणा ने अपने गुस्से पर काबू रखने की सलाह दी थी। उन्हें हरियाणा की एक यूनिवर्सिटी ने स्पोट्र्स स्कॉलरशिप ऑफर की थी। 2011 में पुणे में राज्य स्तरीय स्पर्धा जीतकर सुर्खियों में आईं। हर्षदा के पिता कैंटीन चलाते हैं।